Phir Milenge Lyrics- Faisal Kapadia | YOUNG Stunners

Phir Milenge Lyrics in English and Hindi is the Latest Hindi Song Sung by Faisal Kapadia & Young Stunners From the “Coke Studio” Album. With Music is also Given by Xulfi. While Phir Milenge Song Lyrics are Written by Faisal Kapadia & Young Stunners and video is released by Coke Studio YouTube Channel.

Phir Milenge Lyrics- Faisal Kapadia | YOUNG Stunners

Phir Milenge Song Details

Song Title :Phir Milenge
Singer (S):Faisal Kapadia & Young Stunners
Lyrics (S) : Faisal Kapadia & Young Stunners
Music (S):Xulfi
Music Label (©):Coke Studio

Phir Milenge Lyrics

[ Lyrics in English ]

Dil ke kisi konhe mein hi
Yaadein teri maine
Chupa rakhi hai
Chupa rakhi hai

Bhula nahi tu bhi mujhe
Baatein yun hi maine
Baana rakhi hai
Baana rakhi hai

Samaya the dil mein woh aise
Anjaane doh milte phir kaise
Tum baarish mein bheege hum behta
Samandar kinare joh rehta

Umeedein laga ke woh baithe
Jo apne ki ghum woh bhi sehta
Yeh duniya toh chahti ke behke
Yeh baarish ki khusboo se mehke

Mile dard bohot
Kabhi tu bhi mil
Dil mein rehti nai
Janam tu hi dil
Aaj phir aayi na tu
Intezaar raha mustakil
Tabeel hai gam ki sham ka
Saari mohabbat ka muktasir

Nazar saara karo zara si
Qadar karo meri kala ki
Jaane wale chale jaate hai
Kismaat hi to kaabu me nehi aati

Chau mein dhup ki tarah
Jisam mein rooh ki tarah
Gujre dimag se yaad teri
Lagatar lahu ki tarah

Ab khaye jaaye yeh daaro diwaar
Mujhe kisi bhuk ki tarah
Tere bina nehi ghar bhi ghar
Akele main mehsoos kiya

Teri kaami poori huyi na
Aaj bhi rahi ek dil mein khala
Fiza bhi aayi par
Waqt aur dil ka baag bhi
Raha na hara

Tera hi aitbaar baki saari
Duniya pe bharosa nehi bana
Tu mujhpe dekhe insaan
Baaki saari duniya ko dikhe bas kala

Tu hai!
Main hu!
Aur gehri khamoshi
Hum dono hi nahi sunte
Joh bhi ye kuch kehti hogi

Gali hain dil ki dang
Tera uspe aana na ho
Dil ke mohalle mein
Ab tera mera jana na ho

Tu hai, main hoon
Aur sirf fasle hai
Raate maun kaata
Muntizir hum aapke hai

Raazi nehi rajdaar bhi
Kya maangte hai
Khamiyo pe parde log
Kamhi yaha daalte hai
Humse sihane rakhte khwaab
Raatein jaagte hai
Hum tumhe tumse bohot behtar
Jaante hai

Sargoshi mein log
Naam tera
Tere liye maine
Haaya rakhi hai
Haaya rakhi hai

Bhula nahi main bhi tujhe
Mere liye maine
Saaja rakhi hai
Saaja rakhi hai

Zindagi pe
Likh chuke hai falsafe
Itni din lagi ki
Khudko hi na padh saake
Beqadar tu darbadar
Yun bekhabar hi chal padhe

Yaadein kheechti hai
Aage hi na badh saake
Saadhgi ban chuki hai
Badhzhi muntazar
Khadi usi mukaam pe

Hum aaj bhi aaj phir tu aayi nahi
Aaj phir tu shayari
Aaj phir tu ek gumaan
Yaad teri khayegi

Oh thi meri raza
Ab duwa ban gayi
Ye mere khuda ya
Saaja ban gayi

Main jagun saari raat
Woh subhah ban gayi
Garajke baraaste
Ab yeh baadal nahi

Tu mere har dard ki davah
Main dhoop mein khada
Mehsoos kar zara
Mausam badalte hue dekhe hai log
Badalte roop ki tarah

Kya mile ab teri dewaron me milege
Khwabon mein rehta
Khayalon mein unke
Sawalon mein kya pehcange
Paimano se kaise bharosha
Karoge hum insano pe

Tuhi khwaab tuhi meri khwaish
Tuhi hai saans
Main tera bandu baarish

Milenge phir kabhi
Umeed bhi tu aas bhi
Khuli kitaab karte
Zakhm ki numawish

Khaani kaha
Khatam hoti hai
Poori nehi
Har kasam hoti hai

Phir milenge kabhi
Ajnabi ki tarah
Iss raaz ne dil mein
Chupa rakhi hai
Chupa rakhi hai
Chupa rakhi hai

[ Lyrics in Hindi ]

दिल के किसी कोन्हे में ही
यादों तेरी मैंने
चुप राखी है
चुप राखी है

भूला नहीं तू भी मुझे
बातें यूं ही मैंने
बना राखी है
बना राखी है

समय द दिल में वो ऐसे
जाने दो मिलते फिर कैसे
तुम बारिश में भीगे हम बहत
समंदर किनारे जोह रहटा

उम्मीदें लगा के वो बैठे
जो अपने की घुम वो भी सेहता
ये दुनिया तो छती के बहके
ये बारिश की खुशबू से महके

माइल डार्ड बोहोट
कभी तू भी मिली
दिल में रहती है
जनम तू ही दिल
आज फिर आई न तू
इंतजार रहा मुस्तकिल
तबील है गम की शाम का
सारी मोहब्बत का मुक्तासिरो

नज़र सारा करो ज़रा सी
क़दर करो मेरी कला की
जाने वाले चले जाते हैं
किस्मत ही तो कबू में नहीं आती

चौ में धूप की तराहः
जिसम में रूह की तराहः
गुजरे दिमाग से याद तेरी
लगतार लहू की तराहः

अब खाए जाए ये दारो दिवार
मुझे किसी भुक की तराहः
तेरे बिना नेही घर भी घर
अकेले मैं महसूस किया

तेरी काम पूरी हुई ना
आज भी रही एक दिल में खला
फ़िज़ा भी आई परी
वक्त और दिल का बाग भी
रहा न हर:

तेरा ही ऐतबार बाकी सारी
दुनिया पे भरोसा नहीं बना
तू मुझे देखे इंसान
बाकी सारी दुनिया को देखो बस कला

तू है!
मैं हू!
और गहरी खामोशी
हम दोनो ही नहीं सुन्ते
जो भी ये कुछ कहती होगी

गली है दिल की डांगी
तेरा उसे आना न हो
दिल के मोहल्ले में
अब तेरा मेरा जाना न हो

तू है, मैं हूं
और सिरफ फसले है
रात मौन काटा
मुंतिज़िर हम आपके हैं

राज़ी नहीं राजदार भी
क्या मांगते हैं
खमियो पे परदे लोग
कमि यहीं डालते हैं
हमसे सिहाने रखते ख़्वाब
रातें जाते हैं
हम तुम्हारे तुमसे बहुत बेहतर
जाते हैं

सरगोशी में लोग
नाम तेरा
तेरे लिए मैंने
हाया राखी है
हाया राखी है

भुला नहीं मैं भी तुझे
मेरे लिए मैंने
साजा राखी है
साजा राखी है

जिंदगी पे
लिख चुके हैं फलसफे
इतने दिन लगी की
खुदको ही न पढ़ सके
बेकदर तू दरबदरी
यूं बेखबर ही चल पढे

यादों की खेचती है
आगे ही न बढ़ा साके
साधगी बन छुकी है
बड़झी मुंतजारी
खादी उसी मुकाम पे

हम आज भी आज फिर तू आई नहीं
आज फिर तू शायरी
आज फिर तू एक गुमान
याद तेरी खायगी

ओह थी मेरी रज़ा
अब दुआ बन गई
ये मेरे खुदा या
साजा बन गई

मैं जगुन सारी रात
वो सुभाष बन गई
गरजके बरस्ते
अब ये बादल नहीं

तू मेरे हर दर्द की दवा:
मैं धूप में खड़ा
महसूस कर जरा
मौसम बदलते हुए देखे हैं लोग
बदलते रूप की तराहः

क्या मिले अब तेरी देवरों में मिलेंगे
ख़्वाबों में रहता हूँ
ख्यालों में उनके
सांवों में क्या पहकांगे
पैमानों से कैसे भरोशा
करोगे हम इन्सानो पे

तुही ख़्वाब तू ही मेरी ख़्वाइशो
तुही है सांसो
मैं तेरा बंदू बारिशो

मिलेंगे फिर कभी
उम्मीद भी तू आस भी
खुली किताब करता है
ज़ख्म की नुमाविशो

खानी कह:
खतम होती है
पूरी नेहि:
हर कसम होती है

फिर मिलेंगे कभी:
अजनबी की तराही
इस राज ने दिल में
चुप राखी है
चुप राखी है
चुप राखी है

Written By- Faisal Kapadia & Young Stunners

If Found Any Mistake in above lyrics?, Please let us know using contact form with correct lyrics!

Phir Milenge Music Video